Latest Posts

बुधवार, 22 सितंबर 2021

Facebook Account कैसे मिटाए | How To Delete Facebook Account By Technical Rakesh

Technical Rakesh

Facebook Account कैसे मिटाए | How To Delete Facebook Account By Technical Rakesh


Facebook Account कैसे मिटाए | How To Delete Facebook Account By Technical Rakesh



अगर आपके पास भी facebook के दो अकाउंट है या फिर आप facebook चला कर थक चुके हैं या फिर आप किसी अन्य वजह से अपने facebook अकाउंट को कुछ समय के लिए या परमानेंट डिलीट करना चाहते हैं तो यह पोस्ट आपकी काफी मदद करेगा।


हम कुछ जी स्टेप में जानेंगे की कैसे हम अपने facebook account को डीलीट कर सकते हैं। मैं आपको इमेज के माध्यम से स्टेंप बाई स्टेप बताने का प्रयास करूंगा आप इस पोस्ट को आराम से पढ़े और इमेज को देखते हुए समझे उसके बाद आप अपने facebook अकाउंट को आसानी से डिलीट कर पाएंगे तो चालिए शुरू करते हैं 


मैं आपको application के माध्यम से बताऊंगा वैसे आप कही से भी facebook खोलकर अपना अकाउंट मिटा सकते है। किन्तु मैं इस पोस्ट में आपको एप्स के द्वारा बताउंगा इसलिए आप एप्स के माध्यम से ही समझे। 


First Step - फेसबुक app open करे उपर दाहिने साइड में क्लिक करे नीचे आपको समझने के लिए इमेज मिल जायेगा। क्लिक करने के बाद आपको बहुत सारे option मिल जायेंगे आपको थोड़ा नीचे आना है और Settings & Privacy पर जाना है। 

Second Step - जब आप वहा पर क्लिक कर देंगे इसके बाद आपको पहले नम्बर पर ही Setting का आप्शन मिलेगा वहा पर क्लिक करे समझने के लिए नीचे इमेज दिया हुआ है।


Facebook Account कैसे मिटाए | How To Delete Facebook Account By Technical Rakesh


Third Step - जब आप Setting वाले ऑप्शन पर क्लिक करके आगे बढ़ेंगे तो आपको कुछ इस प्रकार के ऑप्शन मिलेंगे नीचे देखे उसमें आपको पहले नंबर Personal And Account Information पर Click करना है।



न्हे भी देखें।👇👇👇👇👇

E-RUPI क्या है और यह कैसे काम करता है।

Instagram में Followers कैसे बढ़ाएं

Instagram से पैसे कैसे कमाए

सिर्फ एक Apps से Mobile Hack जाने कैसे

How To Hack Android Mobile 2020 | हिन्दी में

Cyber Crime' And Bank Hacking और बचने के उपाय।

Spy Apps से Mobile Hack और App Hide कैसे पता लगाए

YouTube Vs Blogging

App Lock लगने के बाद File कैसे देखें ।

American F22 Raptert फाइटर जैट

PhonePay Support And Helpline Number | PhonePay Complain Kaise Kare -

Phone Pay Froud Se कैसे बचे Wrong Payment कैसे Refund करवाए



Forth Step - उस पर क्लिक करने के बाद आपके सामने 4 Option आ जायेंगे आपको सबसे नीचे Account Ownership And Control पर जाना है। नीचे इमेज को देखे।

Facebook Account कैसे मिटाए | How To Delete Facebook Account By Technical Rakesh


Forth Step - उस पर क्लिक करने के बाद जैसे ही आगे बढ़ेंगे आपको दो ऑप्शन मिलेगा नीचे वाले आप्शन पर Deactivation And Deletion आपको click करना है। निचे ईमेज दिया है।


Five Step - जब आप Deactivation And Deletion पर Click करके आगे बढ़ते हैं। उसके बाद फिर आपको दो ऑप्शन मिलेंगे पहले नंबर पर अकाउंट को Deactivate करना और दूसरे नंबर पर अकाउंट को Delete करने का ऑप्शन मिलेगा अगर आप अपने अकाउंट को Deactivate करना चाहते हैं तो पहले नंबर पर जाए और अगर आप अपने अकाउंट को पूरी तरह से डिलीट करना चाहते हैं तो दूसरे नंबर पर जाए। दोनो में किसी एक को सेलेक्ट करने के बाद नीचे Continue पर क्लिक करें। समझने के लिए नीचे इमेज को देखें अगर आप अपने अकाउंट को पूरी तरह से Delete करना चाहते हैं। तो Delete पर Select करे और Continue To Account Deletion पर Click करे। निचे ईमेज देखे।

Facebook Account कैसे मिटाए | How To Delete Facebook Account By Technical Rakesh


Six Step - जब आप Continue To Account Deletion पर क्लिक करके Account Deletion प्रक्रिया पर आगे बढ़ते है। तो आप अगले पेज पर पहुंच जाते है। नीचे इमेज में देख सकते है। आपको Facebook की तरफ से कुछ लिखा हुआ मिलेगा। इन सभी को छोड़ दे और नीचे आपको Continue To Account Deletion और Cancel का आप्शन मिलेगा। आपको Continue To Account Deletion पर क्लीक करके आगे बढ़ना है।



Seven Step -  जब आप आगे बढ़ते है। तो फिर Facebook Account Delete करने से पहले यानी Before Delete Your Account लिखकर एक नोट देगा नीचे इमेज में देखे और आपसे Facebook Account को Delete करने का कारण पूछा जायेगा आप कोई भी सम्बन्धित विकल्प का चुनाव कर सकते है। इसमें कोई दिक्कत नही है। एक विकल्प चुनें और Continue To Account Deletion पर क्लिक करके आगे बढ़े।

Facebook Account कैसे मिटाए | How To Delete Facebook Account By Technical Rakesh


Last Step - अब जब आप लास्ट बात Continue To Account Deletion पर क्लीक कर देते है। तो आपका अकाउंट डीलीट हो जाएगा या आपके अगले पेज में जाते ही Account Delete करने के लिए आपसे Facebook का पासवर्ड मांगा जाएगा । बिना पासवर्ड के आप फिर फेसबुक Account Delete नही कर पायेंगे अगर आपको पासवर्ड याद नही है तो आप अपने Facebook Password को पहले रिसेट कर ले

अगर पासवर्ड याद है। तो पासवर्ड मांगने पर पासवर्ड डाले उसके बाद आगे बढ़े। आपको स्क्रीन पर सफलतापूर्वक अकांउट डीलीट का एक Msg Seen हो जायेगा फिर आपको एक महीने तक फेसबुक का User ID password कही भी यूज नही करना है। जब तक आपका facebook पूरी तरह delete ना हो जाए नही तो वह Account दुबारा से Start हो जायेगा।


अगर समझ ना आए तो नीचे कमेंट बॉक्स में पूछ सकतेहै

पोस्ट अच्छी लगी हो तो ज्यादा से ज्यादा लोगो को शेयर करे मिलते है। अगली जानकारी में तब तक के लिए जय हिन्द

गुरुवार, 19 अगस्त 2021

e-RUPI: क्या है | E-RUPI Payment Service | ई-रुपी काम कैसे करता है। Technical Rakesh

Technical Rakesh

e-RUPI: क्या है | E-RUPI Payment Service | ई-रुपी काम कैसे करता है।  Rakesh Prajapati


e-RUPI: क्या है | E-RUPI Payment Service | ई-रुपी और कैसे करता है। Technical Rakesh


आप सभी लोगों ने हाल ही में एक पेमेंट मेथड का नाम सुना होगा जिसका नाम है E-RUPI आपने इससे पहले UPI का नाम सुना होगा ठीक उसी तरह है E-RUPI तो आज इस पोस्ट में जानेंगे कि E-RUPI कैसे काम करता है। इसके क्या फायदे हैं।और E-RUPI कब शुरू हुआ और हमें अपने भारत देश में E-RUPI को लॉन्च करने की जरूरत क्यों पड़ी तो चलिए उससे पहले जान लेते हैं। कुछ जरूरी जानकारियां फिर उसके बाद जानेंगे E-RUPI क्या है और यह कैसे काम करता है।


डिजिटल भुगतान को बढ़ावा देने के लिए, PM नरेंद्र मोदी जी ने 2 अगस्त 2021 को ई-वाउचर-आधारित डिजिटल भुगतान समाधान e-Rupi लॉन्च किया था. यह एक प्रीपेड ई-वाउचर है, जिसे नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) द्वारा विकसित किया गया है.


नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) ने कैशलेस लेनदेन को बढ़ावा देने के लिए ही यह वाउचर आधारित भुगतान प्रणाली lunch की है. वित्तीय सेवा विभाग, स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय और राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण के सहयोग से इसे विकसित किया गया है.  

e-RUPI: क्या है | E-RUPI Payment Service | ई-रुपी और कैसे करता है। Technical Rakesh


आप सभी लोग अपने Mobile में Google Pay , PhonePay  भीम एप्स paytm इत्यादि कई ऐसे Payment हेतु प्लेटफार्म है। जिनका प्रयोग हम अपने पैसे को भेजने के लिए करते होंगे क्या आप जानते हैं। यह सभी App UPI के मैथड पर काम करते है। जिसका पूरा नाम है।

यूनिक पेमेंट इंटरफ़ेस जोकि 11 अप्रैल सन 2016 को शुरू हुआ था और इन 5 सालों में यह बहुत ज्यादा चलने वाला पेमेंट मेथड बन चुका है। लेकिन इसमें Froud के मामले भी बहुत ज्यादा देखे जा रहे हैं। आए दिन किसी न किसी के Phone पर google pay पर या paytm पर कोई न कोई किसी प्रकार से सेंध लगा लेता है। उसी से बचने और भ्रष्टाचार को कम करने के लिए एक नया तरीका सोचा गया और E-RUPI  बनाया गया जो कि UPI से थोड़ा हटके है। यह काफी Secure है।



यह एक QR Code या SMS स्ट्रिंग-आधारित ई-वाउचर है, जो लाभार्थियों के Mobile पर पहुंचाया जाता है. आपको बता दें कि E-RUPI के लिए किसी भी बैंक में आपका Account होना कोई जरूरी नहीं है। यानी की इसके इस्तेमाल के लिए आपको किसी भी प्रकार के Bank Account या Application की जरूरत नहीं पड़ेगी तो चलिए जानते हैं कि E-RUPI काम कैसे करता है।



E-RUPI द्वारा Payment के लिए किसी को SMS. या QR के माध्यम से इसे भेजा जा सकता है। आपको बता दें कि NPCI नेशनल Payment कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया द्वारा संचालित किया जाता है। जो कि सभी तरह के Payment पर नजर रखता है। और NPCI के द्वारा संचालित किया जाता है। आखिर E-RUPI पेमेंट मेथड बाकी के मुक़ाबले इतना Secure क्यों है। चलिए जानते हैं।



इसके लिए लाभार्थी के पास bank account होना जरूरी नहीं है, जो दूसरे digital भुगतान माध्यमों की तुलना में इसका एक बेहद खास फीचर है. यह एक आसान, संपर्क रहित भुगतान पाने के लिए 2 phase प्रोसेस एनश्योर करता है, जिसमें अपना व्यक्तिगत डिटेल share करने की भी जरूरत नहीं होती है। और एक फायदा यह भी है कि e-rupi सामान्य mobile पर भी संचालित होता है। और इसका उपयोग वह लोग भी कर सकते है।जिनके पास samartphone नहीं है। या उन जगहों पर जहां internet कनेक्शन week है.


e-RUPI: क्या है | E-RUPI Payment Service | ई-रुपी काम कैसे करता है। Rakesh Prajapati



 इसे एक उदाहरण से समझते है। मान लीजिए भारत सरकार ने सभी किसानों को 10000 रूपए मदद देने का फैसला किया है। जिसमें की Goverment के दिए हुए ₹10000 से आप खाद, दवाई, कीटनाशक, बीज यानी की खेती में संबंधित ही चीजें खरीद सकते हैं। अब Goverment सभी किसानों को 10000 का एक एक Voucher दे देगी। जिसकी कुल 3 कॉपियां होंगी


 एक कॉपी किसान के पास होगा दूसरा NPCI के पास होगा  और एक कॉपी खाद बीज दवाई विक्रेताओ के पास जहा से किसान को दवाई बीज उपलब्ध होगा और जब किसान खेती से सम्बन्धित सामान खाद बीज दवाई लेने जाएंगे और 10000 रूपये के Voucher Code को स्कैन कराएंगे तो वह ₹10000 सफलतापूर्वक भुगतान कर पाएंगे। बिना आपके बैंक अकांउट के उस QR के माध्यम से आपको मुफ्त में 10000 का खाद कीटनाशक बीज इत्यादि मिल जायेगा। 


इसे वैसी digital मुद्रा नहीं मानना चाहिए जिसे लाने के लिए RBI सोच रही है. इसके बजाय  e-rupi को एक व्यक्ति विशिष्ट (Individual specific) यहां तक ​​कि उद्देश्य विशिष्ट (Purpose specific) Digital voucher है.  



अब अगर आप यहां सोचते हैं कि हम इस Voucher का प्रयोग दुसरी जगह कर लेंगे तो आप ऐसा नहीं कर सकते। क्योंकि E-Rupi भुगतान Voucher के रूप में एक सिर्फ उन्ही जगह पर प्रयोग कर सकते हो जिसके लिए वह जारी किया है। यह एक बहुत अच्छी बात है कि जिस किसी व्यक्ति को जिस चीज के लिए पैसे दिए जाएंगे। वह व्यक्ति उस पैसे को वही पर उपयोग कर सकता है। अगर आपको खेती के बीज और दवाओं हेतु मिला है तो आप उसे मेडिकल पर नहीं ले जा सकते, किराने की दुकान पर नहीं जा सकते, स्कूलों में नहीं इस्तेमाल कर सकते,और यदि आपकी लड़की की शिक्षा के लिए ₹50000 का Voucher दिया है तो आप उस  पैसे का उपयोग किसी स्कूल या यूनिवर्सिटी या किसी शिक्षा संस्थान में ही कर सकते हैं। उसके अतिरिक्त आपका Voucher दूसरी जगह मान्य नहीं होगा इस तरह से करप्शन कम होगा और जिस चीज के लिए जो पैसा दिया गया है। वह सही जगह इस्तेमाल हो जाएगा और इसमें पैसे की हेरा फेरी और धोखाधड़ी के मामले बहुत ही कम हो जाएंगे


न्हे भी देखें।👇👇👇👇👇


Instagram में Followers कैसे बढ़ाएं

Instagram से पैसे कैसे कमाए

सिर्फ एक Apps से Mobile Hack जाने कैसे

How To Hack Android Mobile 2020 | हिन्दी में

Cyber Crime' And Bank Hacking और बचने के उपाय।

Spy Apps से Mobile Hack और App Hide कैसे पता लगाए

YouTube Vs Blogging

App Lock लगने के बाद File कैसे देखें ।

American F22 Raptert फाइटर जैट

PhonePay Support And Helpline Number | PhonePay Complain Kaise Kare -

Phone Pay Froud Se कैसे बचे Wrong Payment कैसे Refund करवाए



ये रही कुछ बैंको की लिस्ट जो ई-रूपी को सपोर्ट करने के लिये शामिल किये गये है। 11 बैंक ऐसे हैं, जिसमें SBI, BOB, ICICI, HDFC, PNB आदि बैंक इस वाउचर को जारी करनें तथा स्वीकार करनें का कार्य करेंगे | जबकि वही पर कैनरा बैंक, इंड्सइंड बैंक, इंडियन बैंक, कोटक महिंद्रा और यूनियन बैंक E-Rupi वाउचर सिर्फ इश्यू करनें का कार्य करेंगे। वही पर कुछ बैंक ऐसे भी होंगे, जो E-Rupi जारी करनें और स्वीकार करनें दोनों प्रकार के कार्यो को पूरा करेंगे



तो यह रही e-Rupi से जुड़ी कुछ जरूरी जानकारी अगर आप सभी को e-Rupi के बारे में कुछ जानने और सीखने को मिला तो पोस्ट को आगे भी शेयर करें मिलते हैं। एक अगली जानकारी के साथ अब तक के लिए जय हिंद


मंगलवार, 3 अगस्त 2021

दूसरे का WhatsApp अपने Mobile मे कैसे देखे | WhatsApp Linked Device Technical Rakesh

Technical Rakesh

दूसरे का WhatsApp अपने Mobile मे कैसे देखे |WhatsApp Linked Device Technical Rakesh


दूसरे का WhatsApp अपने Mobile मे कैसे देखे |WhatsApp Linked Device Technical Rakesh


जब बात आती है दूसरे का WhatsApp हम अपने Mobile में कैसे चला सकते हैं तो लोग बहुत ही उत्सुकता से यह जानना चाहते हैं कि आखिर कैसे हम दूसरे mobile के WhatsApp को अपने Mobile में देख सकते हैं या अपने मोबाइल के WhatsApp को किसी दूसरे Mobile में देख सकते हैं दोनों तरीके से आप यूज कर सकते हैं। पहले तो आपको यह बता दूं कि यह कोई WhatsApp हैकिंग trick नहीं है यह WhatsApp के द्वारा हमें दी गई एक सुविधा है जिस तरह से आप facebook, twitter, instagram के अकाउंट को एक साथ कई mobile में इस्तेमाल कर सकते हैं। लेकिन WhatsApp में ऐसा नहीं होता है। इसलिए WhatsApp में एकआप्शन दिया गया है linked devices जिससे कि हम एक फोन के WhatsApp को दूसरे Mobile या किसी लैपटॉप, कंप्यूटर पर देख सकते हैं।

दूसरे का WhatsApp अपने Mobile मे कैसे देखे |WhatsApp Linked Device Technical Rakesh

अब इसी क्रम में आगे बढ़ते हैं। आपको बताना चाहूंगा कृपया मेरे द्वारा दी गई जानकारी का प्रयोग बिना किसी की अनुमति के अपने निजी फायदे के लिए ना करें। यह गलत है और कानूनन जुर्म है यह जानकारी आपको सिर्फ आपके सुविधाओ को बेहतर बनाने के लिए बताई जा रही है जैसे कोई व्यक्ति ज्यादातर time लैपटॉप या computer पर बताता है। और या फिर कोई व्यक्ति अगर office work करता है। और अपना mobile देखने का समय कम मिलता है। तो उस व्यक्ति के लिए जरूरी हो जाता है। कि हमारा whatsapp का जितना भी notification या msg है वह हमें on-screen अपने leptop पर computer पर दिखने लगे बार-बार phone को छूने की जरूरत भी नहीं पड़ती है। और आप सारे msg देखकर आप वहां से reply भी कर सकते हैं।



आप अपने Mobile के WhatsApp को दूसरे mobile पर या leptop या computer पर कैसे देखेंगे चलिए उसके बारे में जानते हैं। पहले आप को अगर अपना WhatsApp कहीं दूसरे मोबाइल या लैपटॉप की screen पर देखना है। तो आपको अपने WhatsApp में कुछ एक सेटिंग करनी होगी आप अपना WhatsApp ओपन कर लीजिए उसके बाद ऊपर right side में 3 बिंदु पर click करना है। आपको तीसरे नंबर पर एक option मिलेगा linked devices  लेकिन WhatsApp Update होने से पहले यह Option WhatsWeb के नाम से आता था। आपको Linked Devices पर Click करना है नीचे image देखे। जब आप linked devices को ओपन कर लेते हैं। तो आपके सामने कुछ ऐसा interface आएगा वहा green कलर में आपको Link A Devices लिखा हुआ मिलेगा आपको वहां पर क्लिक करना है।


दूसरे का WhatsApp अपने Mobile मे कैसे देखे |WhatsApp Linked Device Technical Rakesh


जब आप उस पर क्लिक करते है। तो आपका camera ओपन हो जाएगा। इसे आप यही पर रोक के रखे।

अब आप जिस phone में WhatsApp msg को देखना चाहते हैं।आपको उसमें एक application को डाउनलोड करना होगा जिसका नाम है Whats Web आपको नीचे इसका link मिल जाएगा

Download Whats Web

 आप play Store से जाकर इसे आसानी से इसको download कर सकते हैं। वैसे Play Store पर आपको Whats Web के बहुत सारे नकली एप्लीकेशन भी मिलेंगे।


आपको इसके कई तरह के Apps में सही Apps का चुनाव करना है। फिर आपको दूसरे वाले phone में Whats Web एप को open कर लेना है। जैसे आपका whats web application ओपन होगा आपके सामने एक QR Code मिल जाएगा आपको उस QR Code को अपने पहले वाले WhatsApp के ओपन कैमरा से स्कैन करना है।

दूसरे का WhatsApp अपने Mobile मे कैसे देखे |WhatsApp Linked Device Technical Rakesh


 जो कैमरा आपने open करके छोड़ा था। यहां आपको यह करते समय दोनों mobile का इंटरनेट on रखना पड़ेगा जैसे ही आपका QR scan पूरा हो जायेगा आपके पहले mobile का whatsapp आपके दूसरे मोबाइल के whats web एप्लीकेशन के अंदर आ जाएग आप इस application के अन्दर से ही आप सभी चैट और msg देख सकते हैं। और msg को मिटा भी सकते हैं और किसी को भी यहां से reply भी दे सकते हैं। अगर आप अपने whatsapp को दूसरे device से unlink करना चाहते हैं तो अपने पहले मोबाइल के whatsapp में जाए और linked devices वाले ऑप्शन पर जाकर वहां से दुसरे mobile को logout कर दें। आपका whatsapp दूसरे मोबाइल से unlink हो जाएगा और नीचे जिस जिस devices में आपका whatsapp लिंक रहेगा आपको दिख जाएगा आप उन्हें भी logout कर सकते हैं


तो इस प्रकार से आप अपने पहले mobile के व्हाट्सएप को दूसरे mobile में देख सकते हैं। अगर आप leptop या computer पर whatsapp देखना चाहते हैं। तो whats web की। वेबसाईट ओपन करके direct QR code को स्कैन कर सकते हैं। 





आप इसे किसी के भी मोबाइल में चोरी से प्रयोग न करे। किसी भी तरह से इस जानकारी का गलत प्रयोग बिल्कुल भी ना करें अगर आपको कहीं समझ में नहीं आता है। तो निचे कमेंट में पूछे। अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो like And शेयर करना ना भुले मिलते है एक नई जानकारी के साथ तब तक के लिए जय हिंद।

रविवार, 25 जुलाई 2021

पेगासस क्या है? | Pegasus Spyware | भारत में Pegasus Virus | इजराइली कम्पनी NSO Group | Technical Rakesh

Rakesh Prajapati

पेगासस क्या है ?| Pegasus Spyware |भारत में Pegasus Virus |इजराइली कम्पनी NSO Group |Technical Rakesh

पेगासस क्या है | Pegasus Spyware | भारत में Pegasus Virus | इजराइली कम्पनी NSO Group | Technical Rakesh


 Pegasus Virus क्या है? कहा से आया ये वायरस? और किसके किसके मोबाइल हुए हैक। क्यों है ये वायरस इतना खतरनाक। चालिए जानते है।


बीते दिनों में आप में से कई लोगो ने इस Viral खबर के बारे में सुना होगा तो आज इसी के बारे में जानेंगे भारत में Pegasus Spyware फिर से एक बार चर्चा में हैं.दावा किया जा रहा है की भारत में कई पत्रकारों और चर्चित हस्तियों के Phone की जासूसी की जा रही है. Israel की साइबर सुरक्षा कंपनी NSO ने Pegasus Virus को तैयार किया है. Mexico और Saudi Arabia की सरकार ने भी इसके इस्तेमाल को लेकर सवाल उठाए जा रहे हैं। बांग्लादेश समेत अन्य कई देशों ने Pegasus Spyware को ख़रीदा है.वैसे आपको बता दे की इसे लेकर पहले भी काफ़ी विवाद हुए हैं. WhatsApp के स्वामित्व वाली कंपनी Facebook के साथ अन्य कई दूसरी कंपनियों ने इस पर मुकदमे दर्ज किए हैं. वैसे तो भारत के बारे में आधिकारिक तौर पर ये जानकारी नहीं है कि सरकार ने NSO से 'Pegasus Virus' को खरीदा है या नहीं.

पेगासस क्या है | Pegasus Spyware | भारत में Pegasus Virus | इजराइली कम्पनी NSO Group | Technical Rakesh


वैसे इस सम्बंध में NSO ने पहले ख़ुद पर लगे सभी आरोपों को ख़ारिज किए हैं. और कंपनी ये भी दावा करती रही है कि वो इस Pegasus प्रोग्राम को सिर्फ मान्यता प्राप्त Goverment Agencies को ही बेचती है और इसका उद्देश्य मात्र आतंकवाद और अपराध के खिलाफ लड़ना है. खैर अभी आरोपों को लेकर NSO ने ऐसे ही दावे किए हैं। और सरकारें भी जाहिर तौर पर यह बात बताती हैं कि इसे ख़रीदने के पीछे उनका उद्देश्य सिर्फ सुरक्षा और आतंकवाद पर रोक लगाने का है। लेकिन फिर भी कई सरकारों पर Pegasus Virus के मनमाने इस्तेमाल और दुरुपयोग के बड़े आरोप लगे हैं।

पेगासस क्या है | Pegasus Spyware | भारत में Pegasus Virus | इजराइली कम्पनी NSO Group | Technical Rakesh


ये काम कैसे करता है?

Pegasus एक स्पाइवेयर है जिसे Israel Cyber सुरक्षा कंपनी NSO Group Off Technologys ने बनाया है. और ये एक ऐसा Program है जिसे अगर किसी के भी Smartphone में डाल दिया जाए, तो कोई Hecker  उस Smartphone के कैमरा, ऑडियो, माइक्रोफ़ोन, टेक्सट मेसेज, ईमेल और लोकेशन तक की जानकारी को आसानी से हासिल कर सकता है.Cyber Sequrity Company Kaspersky की एक Report के अनुसार, Pegasus आपको Encrypted ऑडियो को सुनने और Encrypted Message को पढ़ने लायक बना देता है. Encrypted संदेश ऐसे होते हैं जिसकी जानकारी केवल massage भेजने वाले और received करने वाले को होती है. जिस Company के प्लेटफ़ॉर्म पर Message भेजा जा रहा, वो भी उसे देख या सुन नहीं सकती है। Pegasus के इस्तेमाल से Hack करने वाले को उस व्यक्ति के Mobile से जुड़ी सभी जानकारियां मिल सकती हैं.


क्या है इसकी कीमत?

एक रिर्पोट के मुताबिक Pegasus को Install करने के लिए NSO  लगभग 3.7 करोड़ रुपये के आसपास का शुल्क लेता है। और 10 IPhone और Android User की जासूसी के लिए सरकारी एजेंसियों से 4.8 करोड़ रुपये का शुल्क लेता है। वही 5 BlackBerry User के लिए $ 500,000 और ऐसे ही 5 Symbian Mobile User के लिए $ 300,000 तक का चार्ज लगाया है।

पेगासस क्या है | Pegasus Spyware | भारत में Pegasus Virus | इजराइली कम्पनी NSO Group | Technical Rakesh


पहली बार 2016 में सामने आया Pegasus

एक रिपोर्ट के मुताबिक Pegasus से जुड़ी जानकारी पहली बार साल 2016 में United Arab Emirates के मानवाधिकार कार्यकर्ता अहमद मंसूर की बदौलत मिली. उन्हें कई SmS Received हुए थे जो उनके हिसाब से वो संदिग्ध थे उनका मानना था कि उन्हें वो Link गलत मकसद से भेजे गए थे. उन्होंने अपने Phone को टोरंटो विश्वविद्यालय के 'सिटीजन लैब' के Experts को दिखाया. उन्होंने एक दुसरे Cyber Sequrity फर्म 'Lookout' से मदद ली मंसूर का अंदाज़ा बिलकुल सही था. अगर उन्होंने उस Link पर क्लिक किया होता, तो उनका I Phone Malware से संक्रमित हो जाता. इस Malware  को ही Pegasus का नाम दिया गया था



लेकिन यहां पर गौर करने वाली बड़ी बात ये है कि आमतौर पर बेहद सुरक्षित माने जाने वाले Apple Phone की Sequrity को भी ये Pegasus Spyware भेदने में कामयाब हो गया हालांकि Apple ने इससे निपटने के लिए Update लेकर आया था.

पेगासस क्या है | Pegasus Spyware | भारत में Pegasus Virus | इजराइली कम्पनी NSO Group | Technical Rakesh



फिर इसके बाद न्यूयॉर्क टाइम्स 2017 में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक Mexico की Goverment पर Pegasus की help से Mobile की जासूसी करने वाला उपकरण बनाने के भी आरोप लगाए Report के हिसाब से इसका use Mexico में मानवाधिकार कार्यकर्ताओं, भ्रष्टाचाररोधी और पत्रकारों के ख़िलाफ़ किया गया था. Mexico के फेमस पत्रकारों और सामाजिक कार्यकर्ताओं ने खुद ही सरकार पर Mobile Phone से जासूसी करने का आरोप लगाया और इसके Against मामला भी दर्ज कराया है.

पेगासस क्या है | Pegasus Spyware | भारत में Pegasus Virus | इजराइली कम्पनी NSO Group | Technical Rakesh


एक Report में कहा गया है कि Pegasus Software मैक्सिको की Goverment को इसरायली कंपनी NSO ने एक शर्त पर बेचा था कि वो इस Pegasus का Use सिर्फ़ अपराधियों और आतंक के ख़िलाफ़ ही करेंगे. न्यूयॉर्क टाइम्स के हिसाब से इस Software की खास बात यह है कि यह Smartphone और मॉनिटर, Call, टेक्स्ट्स और दूसरे बातो का भी पता लगाया जा सकता है. यह Phone के Microphone या Camera को भी Activate कर सकता है.


इन्हे भी देखें।👇👇👇👇👇

Instagram में Followers कैसे बढ़ाएं

Instagram से पैसे कैसे कमाए

सिर्फ एक Apps से Mobile Hack जाने कैसे

How To Hack Android Mobile 2020 | हिन्दी में

Cyber Crime' And Bank Hacking और बचने के उपाय।

Spy Apps से Mobile Hack और App Hide कैसे पता लगाए

YouTube Vs Blogging

App Lock लगने के बाद File कैसे देखें ।

American F22 Raptert फाइटर जैट

PhonePay Support And Helpline Number | PhonePay Complain Kaise Kare -

Phone Pay Froud Se कैसे बचे Wrong Payment कैसे Refund करवाए


कंपनी का Facebook से विवाद

2020 में मई के महीने में आई एक Report में यह आरोप लगाया गया कि NSO Group ने यूज़र्स के Phone में Hacking Software डालने के लिए Facebook के जैसे दिखने वाली Website का प्रयोग किया.समाचार Website मदरबोर्ड की एक जांच में यह दावा किया गया था कि NSO ने Pegasus Hacking Tool को फैलाने के लिए एक Facebook से  मिलता जुलता ही Domain बनाया.

पेगासस क्या है | Pegasus Spyware | भारत में Pegasus Virus | इजराइली कम्पनी NSO Group | Technical Rakesh


Website ने यह भी दावा किया कि इस काम के लिए America में मौजूद Server का use किया गया था. बाद में Facebook ने यह बताया कि उन्होंने इस Domain पर अपना अधिकार हासिल किया ताकि इस spyware को और फैलने से रोका जा सके.हालांकि NSO Grouo ने इन सभी आरोपों से इनकार करते हुए इसे बस "मनगढ़ंत" करार दिया था. Israeli फर्म इससे पहले से ही Facebook के साथ कानूनी लड़ाई में फंसा हुआ है. 2019 में Facebook ने आरोप लगाया था कि NSO ने जानबूझकर Whatsapp पर अपने Software को फैलाया ताकि लोगों के Phone की SEQURITY से समझौता किया जाए. Facebook के मुताबिक जिनके phone hack हुए उनमें पत्रकार और मानवाधिकार के कार्यकर्ता भी शामिल थे.


पेगासस क्या है | Pegasus Spyware | भारत में Pegasus Virus | इजराइली कम्पनी NSO Group | Technical Rakesh


tt


आरोपों पर Company का कहना

NSO Group कंपनी हमेशा से यह दावा करती रही है। कि ये Program वो केवल मान्यता प्राप्त Goverment Agencies को बेचती है और इसका उद्देश्य सिर्फ इस "आतंकवाद और अपराध के खिलाफ लड़ना है. Company ने कैलिफोर्निया की Court में यह कहा था कि हमारा NSO Group कभी भी अपने Spyware का प्रयोग नहीं करती है। हमें अपनी Technology तथा Crime और आतंकवाद से निपटने में इसकी महत्वपूर्ण भूमिका पर गर्व है, लेकिन NSO अपने Product का इस्तेमाल खुद नहीं करता, हमने कई बार यह बात साफ़ साफ़ कही है। कि NSO के Product Sirf सत्यापित और अधिकृत Goverment Agencies को दिए ही जाते हैं और वही लोग इसे संचालित भी करते हैं।



Corona काल में फिर सामने आया नाम

अभी पिछले साल में ही कंपनी ने एक ऐसे Software के निर्माण का दावा किया था जो की Corona Virus के फैलने की निगरानी एवं इससे जुड़ी कुछ भविष्यवाणी करने में काफी हद तक मदद कर सकता है। इसके लिए Mobile Phone Data  का प्रयोग करता है। NSO के हिसाब से वो दुनिया भर की Goverment के साथ वार्तालाप कर रहा था और दावा किया कि कुछ देश इसका Experiment भी कर रहे हैं।



तो यह रही Pegasus Spyware से जुड़ी कुछ खास व जरूरी जानकारियां अगर आपको Post अच्छी लगे तो आगे भी शेयर करे। मिलते है एक नई जानकारी में तब तक के लिए जय हिंद

रविवार, 18 जुलाई 2021

Amazon Pantry Services |Pantry Service Of Amazon By Technical Rakesh

Rakesh Prajapati

 Amazon Pantry Services |Pantry Service Of Amazon By Technical Rakesh 

Amazon Pantry Services |Pantry Service Of Amazon By Technical Rakesh
Amazon Pantry Services Technical Rakesh


E-Commerce कंपनी Amazon ने अपने ग्राहकों के लिए 2020 में एक नया तोहफा पेश किया था Amazon ने एक नई सर्विस शुरू करने का ऐलान किया था जिसके तहत आपको pantry का सामान Amazon के द्वारा आपके घर तक पहुंचाया जाएगा इसमें आपको रसोई से जुड़ी रोजमर्रा की जरूरतों की विभिन्न सामग्रियां उपलब्ध कराएगा। जैसे कि आटा दाल चावल मसाले इत्यादि सभी सामान आपको amazon pantry  service के तहत उपलब्ध कराएगा।( Amazon Food Delivery, E-Commerce, ) की सप्‍लाई भी करेगा। 


Amazon Pantry Services |Pantry Service Of Amazon By Technical Rakesh
Amazon Pantry Services Technical Rakesh

दरअसल amazon कंपनी ने यह सर्विस इसलिए भी शुरू की है corona virus के संक्रमण में लॉकडाउन के दौरान इन चीजों को लेने के लिए घंटो तक लाइन में लगना पड़ता था जिससे संक्रमण का भी खतरा ज्यादा था और लोगों का वक्त बहुत ज्यादा बर्बाद होता था इस सर्विस को शुरू करने के बाद आम लोगों की जरूरत का सामान आपको घर बैठे मिल जाएगा और संक्रमण का खतरा भी कम हो जाएगा और लोगों का समय भी बचेगा इसलिए यह amazon की pantry सुविधा बहुत काम की है।


Amazon ने अपनी Amazon पैंट्री का विस्तार करते हुए इस सेवा को शुरू किया है। और खास बात यह है कि amazon कंपनी Amazon Pantry को 300 शहरों में शुरू करेगी। और इस सेवा के चलते दूसरों के लोग घर बैठे अपनी जरूरत का सामान मंगा सकते हैं अब उन्हें कहीं भी बाहर भटकने की जरूरत नहीं है और औसतन मूल्य पर यह सभी समान आपको मिल जाएंगे रोजमर्रा की जिंदगी में प्रयोग होने वाले आटा दाल चावल के मसाले इत्यादि सभी सामग्री घर बैठे मंगाए।

Amazon Pantry Services |Pantry Service Of Amazon By Technical Rakesh
Amazon Pantry Services Technical Rakesh


Amazon  के मुताबिक साल 2020 के March April  तक देश के लगभग 110  120 शहरों में Amazon कंपनी अपनी किराना सेवा को शुरू कर दिया था अब Amazon कंपनी तेजी से अपनी Pantry Services का विस्तार कर रही है। ताकि Covid 19 के संक्रमण के दौरान लोग घरों से बाहर निकले बिना ही अपने घर का जरूरी सामान खरीद सकें। Amazon Pantry. सर्विस अब लगभग 10,000 से अधिक pin code पर उपलब्‍ध होगी. Amazon Pantry पर  विक्रेता खाना बनाने की चीजें, पैकेज्‍ड फूड, घर की जरूरी वस्‍तुओं, स्‍नैक्‍स, पेय-पदार्थ, पर्सनल केयर, स्‍किन केयर, पेट फूड, बेबी प्रोडक्‍टस आदि को उपलब्‍ध कराते हैं


Amazon Costumer Service And Toll Free Number


जैसे ही देश में जिस दिन से प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (FDI) के संशोधित Rule लागू किए गए थे। तब से यह प्रोडक्ट Amazon Pantry की सेवा नहीं मिल रही है। Amazon ने अपनी बदलाव करते हुए वेबसाइट  से क्लाउड टेल इंडिया और एप्पारियो रिटेल प्रा. लि. जैसे सेलर्स को भी हटा दिया था। 26 दिसंबर को वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय ने नए दिशा-निदेर्श जारी किए थे। इसके चलते कोई भी E-Commerce माकेर्टप्लेस को इंवेट्री पर नियंत्रण और स्वामित्व रखने से रोका था। इन सभी नियमों के तहत ही online रिटेलर्स को खुद के प्लेटफार्म पर किसी रिटेलर के उत्पादों की बिक्री करने पर रोक लगा दिया था और वाणिज्य मंत्रालय ने अपने नियमों में online retail कंपनियों को किसी भी तरह से वस्तुओं और सेवाओं की कीमतों को भी प्रभावित करने से मना किया था, ताकि सभी सेलर्स के लिए एक समान अवसर रहे


Amazon Costumer Service And Toll Free Number


एक नजर Amazon Company पर

आपने Amazon कंपनी का नाम तो सुना ही होगा ऑनलाइन शॉपिंग के नाम से मशहूर कंपनी। जिसके मालिक जैफ बेजोस है । 1994 में इन्होंने सिएटल में अपने गैराज में Amazon की स्थापना की थी।  इसे उन्होंने ऑनलाइन बुक स्टोर के रूप में शुरू किया तब इसे उन्होंने कैडबरा नाम दिया, लेकिन बाद में दक्षिण अमेरिकी नदी Amazon पर इसका नामकरण किया । फिर अन्य उत्पाद बेचते हुए आगे बढ़े, इसे विश्व की सबसे बड़ी ऑनलाइन रिटेल कंपनी बनाया, और  जेफ बजोस दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति बने।


इन्हे भी देखें।👇👇👇👇👇

Instagram में Followers कैसे बढ़ाएं

Instagram से पैसे कैसे कमाए

सिर्फ एक Apps से Mobile Hack जाने कैसे

How To Hack Android Mobile 2020 | हिन्दी में

Cyber Crime' And Bank Hacking और बचने के उपाय।

Spy Apps से Mobile Hack और App Hide कैसे पता लगाए

YouTube Vs Blogging

App Lock लगने के बाद File कैसे देखें ।

American F22 Raptert फाइटर जैट

PhonePay Support And Helpline Number | PhonePay Complain Kaise Kare -

Phone Pay Froud Se कैसे बचे Wrong Payment कैसे Refund करवाए


1964 में जन्में जेफ बेजोस पढ़ाई में तेज अच्छे थे, और अपने दोस्तों और सहकर्मियों की तरह उन्होंने नौकरी की शुरुआत मैकडोनल्ड्स से की थी। न्यू जर्सी के प्रिंसटन यूनिवर्सिटी से कंप्यूटर साइंस और इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में ग्रेजुएशन करने के  आठ साल बाद वो डीई शॉ एंड कंपनी के वाइस प्रेसिडेंट बन गए । डीई एंड शॉ एक वॉल स्ट्रीट इवेंस्टमेंट बैंक है, जहां से उन्होंने रिजाइन करके Amazon की शुरुआत की थी। 2010 में प्रिंसटन यूनिवर्सिटी में अपने भाषण में उन्होंने कहा था कि Internet की पहुंच तेजी से बढ़ रही थी। और मैंने एक ऑनलाइन बुकस्टोर खोलने का फैसला किया, जहां कई हजार किताबें होगी।

Amazon Pantry Services |Pantry Service Of Amazon By Technical Rakesh
Amazon Pantry Services Technical Rakesh


Amozon इंडिया के वरिष्ठ उपाध्यक्ष और कंट्री मैनेजर अमित अग्रवाल ने बताया कि हमारी कोशिश देश के ज्यादा से ज्यादा पिनकोड ( Pincode ) पर जरूरी वस्तुओं की आपूर्ति करने पर रही है, ताकि लोग घरों में ही रहें। अब 'Amozon Pantry' का विस्तार 300 शहरों में हो गया है। इन शहरों में इलाहाबाद, बरेली, जम्मू, कोझिकोड, माल्दा, पठानकोट, राजकोट, शिमला, उदयपुर और वाराणसी आदि शामिल हैं।



Amazon Costumer Service And Toll Free Number


आपको पता ही है। की पूरी दुनिया में अमेज़न सबसे बड़ा E-कॉमर्स प्लेटफॉर्म है। भारत सहित यह दुनिया के अन्य देशों में भी अपनी सुविधाएं प्रदान कराता है धीरे धीरे अमेजॉन पर जरूरत की सामग्रियां बढ़ती जा रही है Amozon पर इलेक्ट्रॉनिक आइटम की तो भरमार पहले से ही थी लेकिन अब जब यहां पर अमेजॉन पैंट्री की व्यवस्था हो गई है तब से या और सुर्खियों पर है रोजमर्रा के प्रयोग होने वाली वस्तुओं घर बैठे इस माहौल में मिल जाए तो उससे अच्छा और क्या होगा तो अगर आप भी उन शहर से हैं जहां पर Amozon ने अपने पैंट्री सर्विस को शुरू किया है तो आप भी इस सुविधा का लाभ ले सकते हैं
अगर यह जानकारी आपके काम की है तो इसे आगे भी शेयर करें मिलते हैं एक नई जानकारी के साथ तब तक के लिए जय हिंद

Our Team

  • Syed Faizan AliMaster / Computers
  • Syed Faizan AliMaster / Computers
  • Syed Faizan AliMaster / Computers
  • Syed Faizan AliMaster / Computers
  • Syed Faizan AliMaster / Computers
  • Syed Faizan AliMaster / Computers