Designed by February 2020 - TechnicalRakesh.In | Mobile Tips, Internet And Technology Info.

Follow Me

Saturday, February 22, 2020

Technical Rakesh

WhatsApp की 5 जबरदस्त Trick और काम की बात | WhatsApp 5 New Trick 2020


         WhatsApp New Trick  2020 




दोस्तों वैसे तो WhatsApp में बहुत सारी ऐसी खास ट्रिक है जो शायद आपको पता नहीं होगी । लेकिन मैं आज यहां आपको पांच ऐसी Trick के बारे में बताऊंगा जिसकी जरूरत आपको सबसे ज्यादा पड़ेगी ।
WhatsApp आजकल के Time में सभी लोग लगभग यूज करते हैं
बहुत सारी ऐसी सेटिंग है जिसके बारे में हमें आज तक पता नहीं है और हमें उस सेटिंग की जरूरत आए दिन पड़ते रहती है।
इस पोस्ट को पूरा पढ़ने के बाद आपको लगेगा कि इस पोस्ट से हमने बहुत खास जानकारी को सिखा है ।
यहां पर मैं बहुत सारे टॉपिक पर बात ना करके सिर्फ 5 खास और जरूरत वाली टॉपिक पर बात करूंगा ।


तो चलिए टाइम वेस्ट ना करते हुए आगे बढ़ते हैं और सबसे पहले बात करेंगे Broadcast Group की यह ग्रुप क्या है और यह कैसे काम करता है।
 तो चलिए स्टेप बाय स्टेप इसको समझते हैं और पूरी सेटिंग बताते हुए चलूंगा स्क्रीनशॉट के साथ ताकि आपको इसे समझने में कोई दिक्कत ना हो

         WhatsApp New Trick  2020 


01= Broadcast Group
सबसे पहले तो ये समझिए कि इस ग्रुप का काम क्या है और यह क्यों खास है।
अगर आप कई लोगों को एक मैसेज देना चाहते हैं और आपको पता है कि आप एक बार में 5 लोगों को ही  Message कर सकते है।
अगर आपको 50-100 या इससे भी ज्यादा लोगो को व्यक्तिगत रूप से किसी को कोई सूचना या मैसेज देना होता है तो यह ग्रुप काम करेगा। 
जब आप इस ग्रुप में कोई भी मैसेज डालते हैं तो इस ग्रुप में जितने भी लोग होते हैं उन सभी को यह मैसेज ग्रुप में ना मिलकर के व्यक्तिगत रूप से Prosnel पर भेजा जाता है।
तो यहां पर आपने इस ग्रुप का काम समझ लिया। अब आप यह जानिए कि यह ग्रुप WhatsApp पर कैसे बनाया जाता है पिक्चर के साथ समझा दूंगा ताकि आपको अच्छी तरह से समझ में आ जाए


सबसे पहले अपने WhatsApp एप्लीकेशन को ओपन करेंगे और ओपन करने के बाद ऊपर राइट साइड पर Three डॉट पर क्लिक करेंगे और वहां पर कुछ इस तरह का ऑप्शन आएगा उसके बाद सेकंड नंबर पर New Braodcast का ऑप्शन आएगा उसपर क्लिक करना है।


उसके बाद आपको उन कांटेक्ट नंबर को सेलेक्ट करना है जिसे आप इस ग्रुप में ऐड करना चाहते हैं अगर आप इस ग्रुप में कोई गुड मॉर्निंग का मैसेज या गुड नाइट का मैसेज सेंड करते हैं तो उस ग्रुप में जितने भी लोग हैं सभी लोगों को वह मैसेज Prosnel पर मिलेगा 





02= WhatsApp Web
शायद आप लोगों में कुछ लोगों ने इस सेटिंग का प्रयोग किया होगा यह इसके बारे में सुना होगा लेकिन बहुत से लोग इस सेटिंग के बारे में नहीं जानते हैं ।
जब आपका WahtsApp कोई लेना चाहेगा या उसे हैक करना चाहेगा तब आपके WhatsApp Web कैमरा से किसी एप्प के QR Code को स्कैन करेगा  तो इस व्हाट्सवेब का प्रयोग करता है ।
अगर किसी ने आपके व्हाट्सवेब के कैमरे से एक यू आर कोड को अगर स्कैन कर लिया तो आपका व्हाट्सएप उसके मोबाइल में चला जाएगा और आपको पता भी नहीं चलेगा तो इस सेटिंग की मदद से आप उसको लॉगआउट कर सकते हैं।
 और आपको पता लग जाएगा कि किसी ने आपका व्हाट्सएप हैक किया है या नहीं तो यह सेटिंग बहुत लोगों को पता नहीं होती अब चेक कैसे करना है उसके बारे में बता देते हैं।



सबसे पहले आप अपना WhatsApp ओपन करेंगे उसके बाद ऊपर कॉर्नर पर राइट क्लिक करेंगे क्लिक करने के बाद कुछ इस तरह का इंटरफ़ेस ओपन होगा और तीसरे नंबर पर WhatsApp Web वाले ऑप्शन पर क्लिक करना है ।
अगर सीधे कैमरा आता है या फिर कैमरा का सिंबल आकर Ok Go It इस पर क्लिक करने के बाद कैमरा ओपन होता है
यानी कि कुछ इस तरह का इंटरफ़ेस अगर आता है जैसा कि इस इमेज में दिया हुआ है


तो इसका मतलब आपका WhatsApp अभी शेष है किसी और व्यक्ति के मोबाइल में आपका WhatsApp नहीं चल रहा है।
यदि कोई व्यक्ति आपका व्हाट्सएप अपने मोबाइल पर ले कर रखता है तो इस ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद कैमरा के स्थान पर सीधे वहां पर Google Chrome का और विंडोज 10 या 7 लिख कर आएगा तब आपको यह तुरंत समझ में आ जाएगा कि कोई व्यक्ति हमारे WhatsApp को अपने फोन में चला रहा है।
वहां पर आपको सीधे Log Out वाले ऑप्शन पर क्लिक कर देना है फिर आपके अकाउंट का उसके मोबाइल से जो लिंक है वह टूट जाएगा और आपका WhatsApp फिर से सिक्योर हो जाएगा



इन्हें भी देखें।👉🏼👉🏼👉🏼👉🏼👉🏼👉🏼
App Lock लगने के बाद File कैसे देखें ।
Speed Post Tracking | स्पीड पोस्ट ट्रैक करें
Adhar कार्ड से पैन कार्ड कैसे लिंक करे ऑनलाइन ।
American F22 Raptert फाइटर जैट
Samsung Fact In हिंदी
Intresting Fact About Amazon In हिंदी English



03= WhatsApp की Privacy
यह सेटिंग भी आपके लिए जानना बहुत ही जरूरी है क्योंकि इस सेटिंग के अंदर आपकी WhatsApp सिक्योरिटी को लेकर बहुत सारी ऐसी बातें हैं जो आपको जान लेना चाहिए ।
इस एक सेटिंग के अंदर 8-10 तरह की खुफिया सेटिंग और सिक्योरिटी दी गई है जिसके बारे में बहुत से लोगों को पता नहीं होता है ध्यान से इस पोस्ट को पड़ेंगे और इस सेटिंग को सीखेंगे नीचे इमेज दिया गया है उसे देख कर आप उस सेटिंग को आराम से ऑन कर सकते हैं और समझ सकते हैं।
सबसे पहले आपको अपना WhatsApp ओपन करना है उसके बाद राइट कॉर्नर पर क्लिक करके सबसे नीचे Setting वाले ऑप्शन पर क्लिक करना है।



सेटिंग पर क्लिक करने के बाद आपको पहले वाले ऑप्शन अकाउंट पर क्लिक करना है अकाउंट पर क्लिक करने के बाद कुछ इस तरह का इंटरफेस आपके सामने आ जाएगा नीचे दिए हुए इमेज को देखें


अकाउंट पर क्लिक करने के बाद WhatsApp की यह सेटिंग ओपन होगी जिसके बाद आपको फर्स्ट नंबर पर क्लिक करना है जहां पर Privacy लिखा हुआ है बाकी की चौथी और पांचवी ट्रिक भी इसी पेज पर मिलेगी जो की प्राइवेसी के नीचे दी गई है तो आप को यहां तक कैसे पहुंचना है आपको यह ध्यान रखना पड़ेगा।


प्राइवेसी पर क्लिक करने के बाद आपको बहुत सारी सेटिंग मिल जाती है जो आपकी गोपनीयता और सिक्योरिटी के लिए बहुत ही अहम है जैसे कि आप अपना Last Seen किसे दिखाना चाहते हैं या बंद रखना चाहते हैं
आप ऑनलाइन आने के बाद जिस टाइम पर भी अपना WhatsApp बंद करते हैं तो वह आपका लास्ट सीन होता है। आप इसको सिर्फ अपने कांटेक्ट वालों को भी दिखा सकते हैं या Everyone करके हर किसी को दिखा सकते हैं या पूरी तरह से बंद भी कर सकते हैं


ऊपर दिए हुए इमेज को आपने देख लिया होगा और आसानी से समझ लिया होगा और बाकी इसमें क्या है वह बता देता हूं लास्ट सीन के साथ-साथ इसमें आप अपनी Profile पिक्चर की भी सिक्योरिटी को लगा सकते हैं इसके साथ Status और  About पर भी लगा सकते है।
नीचे आने पर आपको Read Receipt का ऑप्शन मिलेगा इसको ऑफ करने के बाद जब आप किसी का भी WhatsApp मैसेज पढ़ेंगे तो उस व्यक्ति को  ब्लू मार्क नहीं दिखेगा आपने इसको अच्छे से समझ लिया होगा कि यह कैसे काम करता है तो आप इसको भी ऑन या ऑफ रख सकते हैं |

नीचे आने पर आपको और भी ऑप्शन मिलेंगे जैसे कि आपको कोई भी कभी भी किसी अनचाहे ग्रुप में ऐड कर देता है और आप उससे काफी परेशान हैं तो आप उस Setting को भी ऑफ कर सकते हैं कि मुझे कोई भी ग्रुप में ऐड ना कर पाए यानी कि आप अपने हिसाब से चुनिंदा कांटेक्ट को सेलेक्ट कर सकते हैं जो आपको ऐड कर पाए या My Contect पर भी क्लिक कर सकते हैं वह आपके ऊपर निर्भर करता है यानी कि आपको इसके अंदर सिक्योरिटी को लेकर बहुत सारे ऑप्शन मिल जाएंगे |



04= Two-Step Verification
चौथा का ऑप्शन प्राइवेसी के नीचे से शुरु होता है जो है Two-Step Verification इसका काम यह है कि अगर कोई व्यक्ति आपके मोबाइल नंबर का ओटीपी लेने के बाद आपके WhatsApp को अपने मोबाइल में लॉगिन करता है तो उसके बाद भी उससे एक पासवर्ड पूछा जाएगा जो आप टू स्टेप वेरीफिकेशन में सेट करते हैं तो इसलिए यह आपकी सिक्योरिटी के लिए बहुत ही जरूरी है नीचे इस इमेज को देखिए ।


यहां पर दो बार पासवर्ड डालने के बाद आपसे आपका इमेल आईडी पूछा जाएगा उसके बाद आप अपना ईमेल आईडी डाल कर ओके कर दीजिए तो आपका टू स्टेप वेरिफिकेशन ऑन हो जाएगा और जो पासवर्ड आपने यहां पर डाला है WhatsApp को किसी दूसरे मोबाइल में लोगिन करने के लिए ओटीपी के बाद वह पासवर्ड डालना अनिवार्य होगा कभी-कभी WhatsApp को ओपन करते समय भी Two-Step Verification का पासवर्ड पूछ लिया जाता है
अब बात करते हैं पांचवी सेटिंग की



05= WhatsApp Report मंगाना
WhatsApp कि इसने सेटिंग के बारे में बहुत ही कम लोग जानते होंगे कि सेटिंग के द्वारा आप WhatsApp की तरफ से एक रिपोर्ट मंगा सकते हैं जिसमें आपके WhatsApp के ग्रुप और व्हाट्सएप आप कब से यूज कर रहे हैं और कितने लोगों के साथ चैट कर रहे हैं कुछ इस तरह की बहुत सारी रिपोर्ट दी जाती है।
इसे मंगाना बिल्कुल फ्री है इसका कोई भी चार्ज नहीं लगता है और 5 से 7 दिन के अंदर अंदर आपको WhatsApp रिपोर्ट प्रोवाइड करा दी जाती है इसके लिए आपको क्या करना है।


टू स्टेप वेरीफिकेशन के लिए जहा पर क्लिक किया था उसके नीचे पांचवे नंबर पर आपको Request Account Info. का ऑप्शन देखने को मिल जाएगा जब आप उस पर क्लिक करेंगे तो कुछ इस तरह का इंटरफ़ेस देखने को मिलेगा 


और जब व्हाट्सएप रिपोर्ट पर क्लिक करेंगे तो आपकी रिक्वेस्ट व्हाट्सएप को सेंड कर दी जाएगी और उसके बाद 5 से 7 दिनों के अंदर अंदर आप को व्हाट्सएप रिपोर्ट भेज दी जाएगी




तो ये रहे WhatsApp के पांच ऐसे सेटिंग्स जिसके बारे में आपको जानना बहुत ही जरूरी था वैसे WhatsApp में बहुत सारी ऐसी खुफिया और खास सेटिंग है उसके बारे में बहुत से लोग नहीं जानते लेकिन मैं अगर एक ही पोस्ट में सभी बातों को बताऊंगा तो पोस्ट काफी लंबी हो जाएगी इसलिए अभी के लिए सिर्फ इतना ही
जानकारी पसंद आई हो तो अपने अन्य दोस्तों में भी शेयर करें जल्दी ही मैं WhatsApp के लिए एक नई जानकारी से जुड़ी एक पोस्ट लेकर आऊंगा तब तक के लिए
बाय बात


Read More

Friday, February 14, 2020

Technical Rakesh

Interesting Facts About Amazon In हिंदी And English


               Interesting Fact Amazon



1= क्या आप जानते है Amazon के निर्माता Jeff Bezos है  और Amazon दुनिया की सबसे बड़ी Online रिटेलर है और Amazon की शुरुआत 5 जुलाई सन् 1994 में हुई थी।

01= Do you know that Amazon's creator is Jeff Bezos and Amazon is the world's largest online retailer and Amazon started on July 5, 1994.


2= और क्या आप यह जानते है कि Amazon कंपनी का नाम World की सबसे बड़ी नदी Amazon के नाम पर रखा है।

02= And do you know that Amazon company is named after Amazon, the world's largest river.


3= आप जानते है कि Amazon की शुरुआत इसके फाउंडर Jeff Bezos के ही गैराज में हुई थी तथा Jeff Bezos  अपनी कंपनी का नाम (Cadabra) रखना चाहते है।

03= You know that Amazon was started in the same garage of its founder Jeff Bezos and Jeff Bezos wants to keep his company name (CADABRA)


4= क्या आप जानते है कि Amazon ऑनलाइन शॉपिंग के साथ-साथ Web Hosting और कंटेंट डिस्ट्रीब्यूशन जैसी Services भी प्रदान करती है।

04= Do you know that Amazon also offers services like online hosting and content distribution as well as the service.




5= क्या आप ये जानते है कि इंसानों के अलावा Amazon में कई Robots भी काम करते हैं.

05= Do you know that many robots work in Amazon in addition to humans.


6= क्या आप जानते है कि Amazon में लगभग 268,997 कर्मचारी काम करते है।

06= Do you know that about 268,997 employees work in Amazon.



7= क्या आप जानते है कि Amazon साइट सिर्फ ऑनलाइन किताबे बेचने के लिए ही बनाई गई थी और उस समय Amazon पर बिकने वाली पहली किताब का नाम (Fluid Concepts and Creative Analogie) था।

07= Do you know that Amazon site was created only to sell online book and at that time the name of the first book named Fluid Concepts and Creative Analogie,


8= साल 2018 में, फोर्ब्स अरबपतियों की सूची में अमरीकी ई-कॉमर्स Amazon.com के मालिक जेफरी प्रेस्टन बेजॉस दुनिया के सबसे बड़े अमीर बन गये हैं. फोर्ब्स सूची के अनुसार Jeff Bezos की सम्पत्ति 110 अरब डॉलर (लगभग 7.15 लाख करोड़ रूपये ) की हैं.

08= In the year 2018, the owner of USB emergency Amazon.com in the list of Forbes billionaires, Jeffrey Preston Bigas, has become the world's largest rich. According to Forbes List, Jeff Bezos property has been of $ 110 billion (about Rs. 7.15 lakh crores).


9=  Amazon.com दुनिया का सबसे बड़ा Book Store भी हैं.
दुनिया की सबसे ज्यादा देखे जाने वाली Top 10 Website में Amazon भी एक हैं.

09= Amazon.com is the world's largest book store. Amazon is also one of the world's most visited TOP 10 Website.




10= क्या आप जानते है इतनी बड़ी कंपनी की वेबसाइट amazon.com 2013 में  49 Minuts के लिए डाउन (बंद) हो गयी थी.

10= Do you know that the big company's website was ADDONC (GET) for 49 minuts in 2013.


11= क्या आप यह जानते है कि Amazon कंपनी इतनी तेजी से आगे बढ़ी की शुरु शुरू में इस कंपनी के कर्मचारियों को हर हफ्ते लगभग 60 से 65 घंटे काम करना पड़ता था।

11 = Do you know that the Amazon company has further moved forward so that this company employees have to work around 60 to 65 hours every week.

Interesting Fact Amazon


12= India में भी Amazon तेजी से अपना नाम और स्थान बना रहा है। एक समय Amazon ने डेटिंग एप टिंडर पर इंजीनियर्स की भर्ती के लिए विज्ञापन दिया था

12= Amazon is also rapidly in India. A time Amazon was advertised for recruiting engineers on dating app debound


13= क्या आप जानते है कि पहले जब भी कोई व्यक्ति Amazon से कोई किताब खरीदता था तो Amazon के ऑफिस में एक रिंग बजती थी। लेकिन बाद रिंग ज्यादा बजने कहीं तो उसे निकाल दिया गया था।
13 = Do you know that when a person buys a book from Amazon, then a ring rings in Amazon's office. But after the ring ring was more easily gone away.


14= क्या आप जानते है कि Amazon में काम करने वाले कुछ पूर्व कर्मचारी आज एक बड़े बिज़नेस मैन है।

14 = Do you know that some former employees working in Amazon today is a big business man.
   

Read More

Saturday, February 8, 2020

Technical Rakesh

F22 Raptor America के बेहतरीन लड़ाकू विमानों में से एक | F22 Raptor Best American Fighter Jet



        F22 Raptor American Fighter Jet


            


इतना आसान नहीं था Americi सेना में जगह बनाना ।  F-22 Raptor का जन्म शीत युद्ध के समय में हुआ था.।  इसे एडवांस्ड Techtical फाइटर (A.T.F) के नाम से बुलाया जाता है। 1980 के दशक के शुरुआती दिनों यह सेना के लिए काफी खास.माना जाता था  ये बड़ी अजीब बात है कि America F-35 लाइटनिंग जैसा High Technology से लैस  कई विमान अपने कई मित्र देशों को बेचने के लिए तैयार था लेकिन उससे पुराना विमान F-22 Raptor America किसी भी देश को  नहीं बेचना चाहता था ।
हाज F-15 ईगल और F-16 फैल्कन ज्यादा काम के नहीं रह गए थे इसलिए इस फाइटर जेट का निर्माण किया गया था. ऐसा भी मानना है कि रूस के मिग-29 और सू-27 लड़ाकू जहाजों के लिए यह F-22 एक मुंह  तोड़ जवाब था.
F22 Raptor America के बेहतरीन लड़ाकू विमानों में से एक है। तकनीकी दृष्टिकोण से F-22 Raptor एक बहुत उन्नत विमान है। America का मित्र देश जापान अपने क्षेत्र में चुनौतियों को देखते हुए F-22 Raptor की मांग लगभग 1 दशक से कर रहा है
   

      F22 Raptor American Fighter Jet
It was not so easy to enter the Americi Army.  The F-22 Raptor was born in the time of the Cold War.  This is called the Advanced Techtical Fighter (A.T.F).  In the early 1980s it was considered very special for the army. It is strange that many aircraft equipped with high technology like America F-35 Lightning was ready to sell to many of its friendly countries but older aircraft F-  22 Raptor America did not want to sell any country. Haj F-15 Eagle and F-16 Falcon were no longer of use, so this fighter jet was built.  It is also believed that for Russia's MiG-29 and Su-27 fighter ships, this F-22 was a mouth-breaking answer.
The F22 Raptor is one of America's finest fighters.  From a technical point of view the F-22 Raptor is a very advanced aircraft.  America's friendly country, Japan, has been demanding the F-22 Raptor for almost a decade, given the challenges in its field.



F-22 Raptor जेट को बनाने वाली टीम-
इसे बनाने की बात करे तो एक टीम के पास था YF-22 और दूसरी के पास था YF-23. दोनों चार साल तक अपने-अपने जेट पर काम करती रही. उन्होंने हर तरह से जेट को एक दूसरे से बेहतर बनाना चाहा. YF-22 की टीम  शुरुआत से ही एक तेज और आक्रामक जेट बनाने की तैयारी में लगी थी  लंबे समय के बाद 1991 में जब दोनों जेट्स के बीच में मुकाबला किया गया तो YF-22 उस मुकाबले को जीत गया था
YF-23 YF-22 के मुकाबले काफी तेज भी था, लेकिन इसके बावजूद वह नहीं जीत सका कहते हैं उसके हारने को वज़ह इसकी तेज Speed माना जाता है।
क्यों कि F-23 बहुत ज्यादा तेज उड़ता था, लेकिन उसके कारण उसे संभालना भी काफी मुश्किल हो जाता था. वहीं दूसरी ओर YF-22 थोड़ा धीमा तो था पर उसे चलाने में रिस्क भी कम था.
दोनों ही जेट्स में खतरनाक हथियार लगाए गए थे. इसमें सबसे ज्यादा घातक थी AIM-9 और AIM-120 मिसाइलें.
परीक्षण के दौरान जितनी भी चीजें सामने आईं उन्हें ध्यान में रख के F-22 में बदलाव किए गए. इस तरह यह और भी बेहतर बनता गया कहते हैं कि YF-22 ने सफलतापूर्वक इन मिसाइलों को दागा, लेकिन YF-23 ऐसा नहीं कर पाया था यह भी एक कारण था इसके हारने का

Team to build F-22 Raptor Jet-
Talking about making it, one team had YF-22 and the other had YF-23.  Both worked on their respective jets for four years.  He wanted to make Jet better than each other in every way.  The team of YF-22 had been preparing to build a fast and aggressive jet from the beginning. After a long time when the two jets were fought in 1991, the YF-22 won that match.
The YF-23 was also much faster than the YF-22, but despite this he could not win, saying that his defeat is considered to be its fast speed.
Because the F-23 used to fly very fast, but due to that it would become very difficult to handle.  On the other hand, the YF-22 was a bit slow but the risk of running it was less.
Dangerous weapons were installed in both jets.  The most lethal of these were the AIM-9 and AIM-120 missiles.
Changes were made to the F-22 keeping in mind all the things that came out during the test.  In this way, it became even better, it is said that YF-22 successfully fired these missiles, but YF-23 could not do it. This was also a reason for its defeat.



America द्वितीय विश्वयुद्ध के बाद महाशक्ति बना।
Japan ऐसा देश है जिसे द्वितीय विश्वयुद्ध के बाद अमेरिका ने  ऐसा संविधान दिया कि वो अपनी सेना और सैन्य शक्ति का विकास नही कर सकता है इस तरह से America का फर्ज़ बनता है कि अमेरिका Japan की सैन्य सहायता के लिए हमेशा तैयार रहे।
F-22 Raptor एक 5वी पीढ़ी का स्टेल्थ विमान है। जो डबल इंजिन के साथ एक बहुत लंबी दूरी वाले मिशन के लिए उपयुक्त है। बहुत ही कम देशों के पास ऐसी ताकत है। वर्ष 2005 से Americi Airforce में आने के बाद इसने Airforce की ताकत बढ़ा दी है इसके जैसा कोई और विमान नही था। इसलिए लगभग एक दशक तक America बेताज़ बादशाह रहा। ऐसा इसलिए भी क्योंकि इसके टक्कर में कोई विमान आया भी नही जो  कि इसका प्रतिद्वंद्वी बन सके तो फिर इसकी असली Fight हुई ही नही।

America became a superpower after World War ।।
Japan is a country which after the Second World War, America gave such a constitution that it cannot develop its military and military power, thus it is the duty of America that America is always ready for Japan's military assistance.
The F-22 Raptor is a 5V generation stealth aircraft.  Which is suitable for a very long range mission with double engines.  Very few countries have such power.  After coming to Americi Airforce since 2005, it has increased the strength of Airforce, there was no other aircraft like it.  That is why America has been a reckless king for almost a decade.  This is also because there was no aircraft in its collision that could rival it, then its actual fight did not happen.


इन्हें भी देखें।👉🏼👉🏼👉🏼👉🏼👉🏼👉🏼
App Lock लगने के बाद File कैसे देखें ।
Amazon Customer Service In हिंदी एंड English
Speed Post Tracking |Mobile Se स्पीड पोस्ट ट्रैक करे
Adhar कार्ड Pan कार्ड लिंक स्टेटस देखे किसी का भी ।
Adhar कार्ड से पैन कार्ड कैसे लिंक करे ऑनलाइन ।
Samsung Hindi Fact, सैमसंग से जुड़ी कुछ अनसुनी बातें ।


अमेरिका जापान को भी F22 Raptor नही बेचना चाहता।
F22 Raptor ने अपनी पहली उड़ान 1997 में भरी थी और उस समय में जो Radar, Avionics, सैन्य साज़ो सामान इस मे लगे थे वो बहुत Advance थे। America नही चाहता था कि किसी और देश के पास उनकी सबसे अच्छी Technical हो। अब वो काफी पुराने हो गए है और उसका बेहतर संस्करण F-35 आ गया है। हालांकि F-35 में बहुत सी Technical Problum हैं इस वजह से अमेरिकी वायुसेना के लिए अब भी F-22 Raptor एक बेहतर विकल्प है।
Japan को या किसी अन्य देश को अगर America आज यह बेचना चाहे तो उसे उसका Ilectronics बदलना पड़ेगा, अब जो कलपुर्जे आते है वो एक अलग मानक पर बनाए जाते है। अलग मानक पर बनने के वजह से वो छोटे और मज़बूत है जिससे उनका वजन और वायुयान की स्थिरता में काफी असर पड़ता है। एक और कारण भी है कि जब नई Ilectronics लगेगी तो उसका फ्लाइट Software भी नया हो जाता है। इस तरह से यह प्लेन इन बदलावों के बाद F-22 Raptor नही रह जायेगा।


America also does not want to sell F22 Raptor to Japan.
The F22 Raptor had its first flight in 1997 and the Radar, Avionics, military equipment that were in it at the time were very much in advance.  America did not want any other country to have their best technical.  Now they are very old and their better version has come F-35.  Although the F-35 has many technical problems, the F-22 Raptor is still a better option for the US Air Force.
If Japan or any other country wants to sell it to America today, then it will have to change its Ilectronics, now the parts which come are made on a different standard.  Being built on a different standard, they are smaller and stronger, which greatly affects their weight and stability of the aircraft.  There is also another reason that when new Ilectronics is installed, its flight software also becomes new.  This way the plane will no longer be the F-22 Raptor after these changes.




क्या है F-22 Raptor की खास बात ?
F-22 Raptor अपनी स्टेल्थ (Radar से छुपने) कला के लिए बहुत Famous है। एक्सपर्ट बताते है कि F-22 Raptor राडार पर Radar Cross Section RCS[2] बहुत कम दिखाता है। जिस के वजह से वह अदृश्य जैसा मालूम होता है। एक F22 Raptor Radar पर एक  की भांति ही दिखता है जिससे इस का अंदाज़ा लगाना काफी मुश्किल है। इस वजह से America चिंतित रहता है और F-22 Raptor नही बेचना चाहता।
2011 तक 195 यूनिट बनाये तो गए पर बाद में इन्हे बदलते भू-राजनैतिक माहौल के कारण इसका उत्पादन बंद कर दिया गया था। अब फिर से इस Program को फिर से Start करने में अलग ख़र्चा उठाना पड़ेगा। ये ख़र्चा फिर कोई भी देश नही उठाना चाहेगा।
अब अमेरिकी Govement ने Japan से कहा है कि वो F-35 और F-22 Raptor के अच्छे तकनीकी चीजों को ध्यान में रख के एक नया हाइब्रिड  जेट विमान बनायेगी जो F-22 Raptor और F-35 से बेहतर और खास होगा।

What is special about the F-22 Raptor?
The F-22 Raptor is very famous for its stealth (concealment from Radar) art.  Experts show that the Radar Cross Section RCS [2] shows very little on the F-22 Raptor radar.  Because of which it seems like invisible.  An F22 looks just like the one on the Raptor Radar, making it difficult to guess.  Because of this, America remains worried and does not want to sell the F-22 Raptor.
By 2011, 195 units were built, but later their production was stopped due to changing geopolitical environment.  Now again, you will have to bear a separate expense in starting this program again.  No country would like to bear this expense again.
Now American Govement has told Japan that it will make a new hybrid jet aircraft keeping in mind the good technical things of the F-35 and F-22 Raptor which will be better and special than the F-22 Raptor and F-35.



क्या India को ऐसे Fighting Jet की आवश्यकता है?
आज के युग मे जब China जैसा ख़तरनाक पड़ोसी देश हमारे पास हो फिर दूर के दुश्मनों की जरुरत नही है। आज हमें तत्काल ज़रूरत नही है पर आने वाले दिनों में हमें इसकी आवश्यकता पड़ सकती है। ख़ैर अब हमारे पास Dassault का राफेल विमान है। आपको यह जानकर ख़ुशी होगी कि राफेल में ऐसे Ilectronic लगे है जो F-22 Raptor जैसे विमान को भी पकड़ सकता है। एक ट्रेनिंग Exercise में राफेल ने F-22 पर मिसाइल Lock किया था।
Does India need such a fighting jet?
In today's era, when we have a dangerous neighbor like China, then there is no need for distant enemies.  Today, we do not have an urgent need, but we may need it in the coming days.  Well now we have Rafael aircraft of Dassault.  You will be happy to know that Rafale has such an Ilectronic which can also hold aircraft like F-22 Raptor.  In a training exercise, Rafael did a missile lock on the F-22.



अगर ये पोस्ट आपको पसंद आयी है तो नीचे कमेंट करे । और ज्यादा से ज्यादा अपने दोस्तो में Share करें। फिर मिलेंगे एक नई जानकारी के साथ तब तक अलविदा ।।।।
Read More

Wednesday, February 5, 2020

Technical Rakesh

Amazon Customer Service | Customer Care No. And Full Information In हिंदी एंड English

  
Amazon Customer Service, Toll Free Mobile Number For 24 Hour, Amazon Customer Care Number Email Helpline and Much More।

अमेज़न ग्राहक सेवा, टोल फ्री मोबाइल नंबर  24 घंटे, अमेज़न ग्राहक सेवा नंबर ईमेल हेल्पलाइन और बहुत कुछ।



Amazon.in Toll Free Number
1800-3000-9009

The Good News Is That The Answer Is Yes, They Do. Amazon Customer  Service Phone Number Is 1888-280-4331. And You Can Call That Number 24 Hours A Day

Please Send Email All Help Camplaint And Any Query 
cs-reply@amazon.com

For Issues With Your Account, Such As A Billing Dispute,  You Should Email
cis@amazon.com

Amazon Customer Service
For any enquiry and complain
0800496 2449

Contact To This Social Site Link
Facebook - facebook.com/amazon
Instagram - Instagram.com/amazon
Twitter -      twitter.com/amazon

Amazon Custome Service

यदि आप ऐसा सोचते हैं कि हमें अमेजॉन कंपनी की तरफ से खुद ही कॉल आए। और हमारी समस्या का समाधान किया जाए तो इसके लिए आप नीचे दिए हुए तरीके पर चलकर ऐसा कर सकते हैं।नीचे आसान तरीका दिया हुआ है जिसमें एक वेबसाइट का लिंक है जो कि ऐमेज़ॉन की ऑफिशियल वेबसाइट है इस वेबसाइट पर जाने के बाद कुछ इस तरह का पेज देखने को मिलेगा नीचे इस इमेज को देख सकते
In English==
If You Think That we get calls from Amazon company itself.  And to solve our problem, for this you can do this by following the method given below. Below is the easy way in which there is a link to a website which is the official website of Amazon, after visiting this website, something like this  You can see this page, you can see this image below.



नीचे दिए हुए इस लिंक पर क्लिक करना होगा।
उसके बाद स्टेप को फॉलो करें अपना प्रोडक्ट सेलेक्ट करें जिस प्रोडक्ट से रिलेटेड आपको जानकारी चाहिए उसके बाद आपको फाइनल में जाकर ऐसा पेज मिलेगा आप अपना मोबाइल नंबर डालें जिस नंबर पर आप अमेजॉन कस्टमर केयर की कॉल मंगाना चाहते हैं उसके बाद आपको पांच से 10 सेकंड में अमेज़न कस्टमर केयर की कॉल आ जाएगी यह एक आसान और अच्छा तरीका है।
In English==
You Have Click on this link below,
https://www.amazon.in/gp/aw/contact

Than Follow the step, select your product, the product related to which you need information, after that you will go to the final page and enter your mobile number, on which number you call Amazon Customer Care  If you want to order, after that you will get a call from Amazon Customer Care in five to 10 seconds, this is an easy and good way.



आइए जानते हैं अमेजॉन कंपनी से जुड़े कुछ बातें कैसे शुरू हुई अमेजॉन कंपनी?
Let's know how some things related to the Amazon company started.

आपने Amazon कंपनी का नाम तो सुना ही होगा ऑनलाइन शॉपिंग के नाम से मशहूर कंपनी। जिसके मालिक जैफ बेजोस है । 1994 में इन्होंने सिएटल में अपने गैराज में Amazon की स्थापना की थी।  इसे उन्होंने ऑनलाइन बुक स्टोर के रूप में शुरू किया तब इसे उन्होंने कैडबरा नाम दिया, लेकिन बाद में दक्षिण अमेरिकी नदी Amazon पर इसका नामकरण किया । फिर अन्य उत्पाद बेचते हुए आगे बढ़े, इसे विश्व की सबसे बड़ी ऑनलाइन रिटेल कंपनी बनाया, और  जेफ बजोस दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति बने।

You must have heard the name of Amazon company, a company known as online shopping.  Owned by Jeff Bezos
In 1994, he founded Amazon in his garage in Seattle.  He started it as an online book store He then named it Cadabra, but later named it on the South American river Amazon.  Others then went on to sell products, making it the world's largest online retail company, and Jeff Bajos the world's richest person.

इन्हें भी देखें।👉🏼👉🏼👉🏼👉🏼👉🏼👉🏼
App Lock लगने के बाद File कैसे देखें ।
Speed Post Tracking |Mobile Se स्पीड पोस्ट ट्रैक करे
Adhar कार्ड Pan कार्ड लिंक स्टेटस देखे किसी का भी ।
Adhar कार्ड से पैन कार्ड कैसे लिंक करे ऑनलाइन
Samsung Hindi Fact, सैमसंग से जुड़ी कुछ अनसुनी बातें
Xiaomi Mi Note 10 Price In India ।


आखिर किस बात ने जेफ बेज़ोस उसका नजरिया बदल दिया
साल 2010 में प्रिंसटन यूनिवर्सिटी में उन्होंने एक  भाषण दिया था, जिसमें उन्होंने अपने कार्य के बारे में वहां के छात्रों को बताया था । अमेजन की शुरुआत कैसे हुई थी और कैसे Amazon दुनिया की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी बन गई।
उन्होंने अपने बचपन का एक किस्सा सुनाया था,  जेफ बेजोस उस वक्त 10 साल के थे, जब वो अपने दादा-दादी के साथ एक Car Trip पर गए थे। उस दौरान उन्होंने इंसान की जिंदगी पर तंबाकू के असर का लेखा-जोखा किया ।
Jafe Bajos ने कहा, मेरे दादा अच्छे इंसान थे "वो एक बुद्धिमान और शांत व्यक्ति थे। उन्होंने कभी मुझे नहीं डांटा था, लेकिन शायद यह पहली बार था जब उन्होंने मुझे फटकार लगाई थी और वो चाहते थे कि मैं अपनी दादी से माफी मांगू लू । मेरे दादा जी ने मेरी ओर देखा और देर बाद प्यार से कहा- जेफ एक दिन तुम यह समझ जाओगे कि विनम्र होना, बुद्धिमान होने से कई गुना कठिन है।" जेफ बेजोस तब से यह भूल नहीं पाए हैं , कि हर फैसले की अपनी अहमियत होती है।

After all, what changed Jeff Bezos' perspective?
In 2010, he gave a speech at Princeton University, in which he told his students about his work.  How Amazon was started and how Amazon became the largest e-commerce company in the world.
  He told an anecdote of his childhood, Jeff Bezos was 10 years old when he went on a Car Trip with his grandparents.  During that time, he analyzed the effect of tobacco on human life.
Jafe Bajos said, My grandfather was a good man "He was a wise and quiet man. He never scolded me, but this was probably the first time he had reprimanded me and wanted me to apologize to my grandmother."  . My grandfather looked at me and later said lovingly - Jeff one day you will understand that being humble is a lot harder than being intelligent. "  Jeff Bezos has not been able to forget that every decision has its own importance.


जेफ बेजोस का कठिन फैसला
1964 में जन्में जेफ बेजोस पढ़ाई में तेज अच्छे थे, और अपने दोस्तों और सहकर्मियों की तरह उन्होंने नौकरी की शुरुआत मैकडोनल्ड्स से की थी। न्यू जर्सी के प्रिंसटन यूनिवर्सिटी से कंप्यूटर साइंस और इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में ग्रेजुएशन करने के  आठ साल बाद वो डीई शॉ एंड कंपनी के वाइस प्रेसिडेंट बन गए ।
डीई एंड शॉ एक वॉल स्ट्रीट इवेंस्टमेंट बैंक है, जहां से उन्होंने रिजाइन करके Amazon की शुरुआत की थी। 2010 में प्रिंसटन यूनिवर्सिटी में अपने भाषण में उन्होंने कहा था कि Internet की पहुंच तेजी से बढ़ रही थी। और मैंने एक ऑनलाइन बुकस्टोर खोलने का फैसला किया, जहां कई हजार किताबें होगी।

Jeff Bezos's tough decision
Born in 1964, Jeff Bezos was sharp in studies, and like his friends and colleagues, he started his job with McDonald.  Eight years after graduating in computer science and electrical engineering from Princeton University in New Jersey, he became Vice President of Dee Shaw & Company.
Dee & Shaw is a Wall Street investment bank from where he designed and started Amazon.  In his speech at Princeton University in 2010, he stated that the reach of the Internet was growing rapidly.  And I decided to open an online bookstore, where there would be several thousand books.



पहले नाम नहीं था Amazon
जेफ ने सबसे पहले कंपनी का नाम Amazon नहीं सोचा था।
वो आबरा का डाबरा नाम से इतने आकर्षित थे, कि कंपनी का नाम Cadabara रखना चाहते थे
और यह भी कहा जाता है कि इन्होंने अपनी कंपनी का नाम कुछ समय तक यहीं रखा है और उसके बाद इनके दिमाग में Amazon नाम आया तुम की Amazon नदी और इसका जंगल दोनों ही विशाल है जो कि पूरी दुनिया में मशहूर है उसी तरह अपनी कंपनी को विशाल और बहुत ही बड़ा बनाने के मकसद से इन्होंने अपनी कंपनी का नाम Amazon रखा था ।

Amazon was not the first name
Jeff did not first think of the company's name as Amazon.
  He was so attracted by the name of Dabra of Abra, that he wanted to name the company Cadabara.
And it is also said that he has named his company here for some time and after that, the name of Amazon came to his mind is that both the Amazon river and its forest is huge which is famous all over the world.  In order to make it huge and very big, he named his company Amazon.


सपने को था पूरा करना
जेफ बेजोस ने कहा, "मैं अपना जॉब छोड़ना चाहता था और कुछ अलग करना चाहता था। मेरे एक बॉस थे, जिन्हें मैं काफी मानता था।
मेरी पत्नी मुझे प्रोत्साहित करती थी और वो चाहती थी कि मैं अपने सपने को पूरा करूं।
मैंने अपने बॉस कि अपने आइडिया के बारे में बताया। उन्होंने कहा यह सही है पर यह उनके लिए है, जिनके पास कोई काम नहीं है। उन्होंने कहा कि मेरे पास अच्छी नौकरी है
इस बात पर मैंने बहुत सोचा और काफी सोचने के बाद मैंने फैसला किया कि मुझे अपने सपने को पूरा करना चाहिए क्योंकि मैं इस बात पर पछतावा नहीं करना चाहता था कि मैंने प्रयास नहीं किया, लेकिन अगर मैं प्रयास ही नहीं करता तो मुझे पछतावा जरूर होगा।
और मुझे अपने फैसले पर गर्व है।" नई कंपनी की शुरुआत के लिए जेफ के मां-बाप ने अपनी सारी जमा पूंजी उन्हें दी ।
25 साल बाद आज Amazon का नाम पूरी दुनिया में मशहूर है।

Make the dream come true
Jeff Bezos said, "I wanted to quit my job and do something different. I had a boss I believed in a lot."
My wife used to encourage me and wanted me to fulfill my dream.
  I told my boss about his idea.  He said it is right but it is for those who have no work.  They said i had a good job
I thought about it a lot and after much thought I decided that I should fulfill my dream because I did not want to regret that I did not try, but if I do not try, I will regret it  .
And I'm proud of my decision. "Jeff's parents gave him all of their accumulated capital to start the new company.
Today, 25 years later, the name of Amazon is famous all over the world.


अगर पोस्ट अगर आपको पसंद आए तो हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं और अपने सभी दोस्तों में ज्यादा से ज्यादा शेयर करें।मिलते है फिर से एक नए इंटरेस्टिंग पोस्ट के साथ

If You like THE POST, then let us know in the comment box and share it as much as possible among all your friends. See you again with a new interesting post
Read More

Monday, February 3, 2020

Technical Rakesh

Samsung Facts In Hindi | सैमसंग के रोचक तथ्य | जिसे सुनकर आप दंग रह जाएंगे

Samsung Facts In Hindi | सैमसंग के रोचक तथ्य




क्या आप जानते है। Samsung कभी सब्जी और मछली भी बेचा करती थी। और क्या आपको ये पता है कि बुर्ज खलीफा दुनिया की सबसे ऊंची Bulding दुबई में स्थित है।
 इस टावर का काम भी Samsung Cunstruction डिविजन ने संभाला है।
Samsung कंपनी Corean शब्द (Samsung) नाम से शुरू की थी। अंग्रेजी भाषा में इसका मतलब थ्री स्टार्स होता है।
Samaung चेयरमैन ‘ली कुन ही’ (Lee Kun-hee) ने Samsung के कर्मचारियों के सामने 1,50,000 फोन और फैक्स मशीन अपने कर्मचारियों के सामने नष्ट करवाया था।


तो चलिए जानते है Samsung कंपनी के कुछ Amezing Fact जिसे सुनकर आप सोच पे पड़ जाएंगे क्या ये सच है।

       Samsung Facts In Hindi




Samsung Fact 1= Samsung कंपनी 'ली बायुंग चल ली' ने 1938 में 40 लोगों के साथ South Corea में शुरू की थी। इसका सबसे मुख्य काम था ड्राय Fish Exports करना।


Samsung Fact 2= Samsung कंपनी मात्र 40 लोगो के  स्टाफ के साथ शुरू हुई थी लेकिन अब इसमें लगभग 3,75,000 लोग काम करते है। वही Apple के पास लगभग 80,300 कर्मचारी हैं।


Samsung Fact 3= Samsung Company 1938 से लेकर अब तक लगभग 80 अलग-अलग तरह के बिजनेस में ट्राई कर चुकी है।


Samsung Fact 4= Samsung ने  कई इलेक्ट्रॉनिक्स आइटम्स लॉन्च किए हैं।  जिसमें टीवी, रेफ्रिजरेटर के साथ मोबाइल फोन और किचन में उपयोग होने वाले गैजेट्स शामिल है। Samsung कंपनी को सफल बनाने के पीछे इसके फाउंडर  (Byung Chull Lee) का बहुत बड़ा हाथ है


Samsung Fact 5=  Samsung ने इलेक्ट्रॉनिक्स इंडस्ट्री की शुरूआत 1960 में की थी। आपको बता दें कि सैमसंग के 90%
Product खुद Samsung की ही Compny में बनते हैं।



Samsung Fact 6= ये कंपनी Coreon शब्द  Samsung नाम से शुरू की अंग्रेजी भाषा में इसका मतलब Three Starts होता है।


Samsung Fact 7= World का सबसे पहला 3D होम थियेटर 2010 में   Samsung कंपनी द्वारा शुरू किया गया था।


Samsung Fact 8= बुर्ज खलीफा दुनिया की सबसे ऊंची Bulding है। जो Dubai में स्थित इस Tower का काम भी Samsung Cunstruction Devision ने संभाला है। बुर्ज खलीफा का काम बहुत Cunstruction कंपनियां संभालती हैं जिसमे से मुख्य Samsung है।


Samsung Fact 09= 2010 में, Samsung इलेक्ट्रॉनिक्स पहला बड़ा मंच आधारित स्मार्टफोन लांच किया है।




Samsung Fact 10= Samsung द्वारा सबसे पहला मोबाइल Device 1986 में लॉन्च किया गया था। और यह एक कार फोन था। यह गैजेट बुरी तरह से पिट गया।


इन्हें भी देखें।👉🏼👉🏼👉🏼👉🏼👉🏼👉🏼
App Lock लगने के बाद File कैसे देखें ।
Speed Post Tracking |Mobile Se स्पीड पोस्ट ट्रैक करे
Adhar कार्ड Pan कार्ड लिंक स्टेटस देखे किसी का भी ।
Adhar कार्ड से पैन कार्ड कैसे लिंक करे ऑनलाइन ।
Xiaomi Mi Note 10 Price | पूरी जानकारी ।


Samsung Fact 11= Samsung गैलेक्सी S6 और S6 एज अब Lunch हो चुके हैं। ये दोनों फोन बार्सिलोना स्पेन में हुए एक Evant में Lunch किए गए हैं।


Samsung Fact 12= विकास की सीढ़ी चढ़ना Samaung ने 1995 से ही शुरू कर दिया था। इसी साल कंपनी के चेयरमैन (Lee Kun-hee) ने Samsung के कर्मचारियों के सामने 1,50,000 फोन और फैक्स मशीन इकट्ठा किए और अपने ही कर्मचारियों के सामने उन्हें नष्ट करवाया था। Samsung के 2000 कर्मचारियों ने यह नजारा देखा ।



Samsung Fact 13= 1993 से Samsung कंपनी World की सबसे बड़ी चिप यानी मेमोरी चिप या रैम मेकिंग कंपनियों में से एक है। सूत्रों की मानें तो Apple आईफोन 7 के लिए भी चिप Samsung कंपनी ही बनाती  है।


Samsung Fact 14= Samsung कंपनी ने सबसे पहले CDMA (1996 ), डिजिटल टीवी (1998 में), वॉट फोन (1999 ) और MP3 फोन (1999 ) Lunch किया था।


Samsung Fact 15= पूरी दुनिया के 70 % स्मार्टफोन Samsung के द्वारा बनाई गई RAM का इस्तेमाल करते हैं।


Samsung Fact 16= आज के टाइम में दुनिया में बिकने वाला हर तीसरा Smartphon Samsung का होता हैं।





Samsung Fact 17=  हर Minuts पूरी दुनिया भर में 100 Samsung टीवी बेचे जाते हैं।


Samsung Fact 18= Samsung South Corea में सबसे ज्यादा रेवेन्यू जनरेट करने वाली कंपनी है।


Samsung Fact 19= क्या आप जानते है Apple iPad’s Retina डिस्प्ले वास्तव में Samsung द्वारा बनाई गई है।


Samsung Fact 20= Samsung ग्रुप प्रत्येक साल अपने नॉन प्रॉफिटेबल ऑर्गनाइजेशन Samsung मेडिकल सेंटर के लिए 100 मिलियन डॉलर दान करता है।

Samsung Fact 21= Samsung ने Ilectronics मार्केट के पॉपुलर ब्रांड सोनी को 2004-2005 में ओवरटेक किया और पूरी दुनिया में छा गई थी।



Samsung Fact 22= आपको शायद मजाक लगे लेकिन सच ये है कि Samsung कभी सब्जी, नूडल्स और Dry Fish भी बेचा करती थी।
Read More